ऑटो में बेटे का शव लेकर उज्जैन पहुंची मां; मुखाग्नि देकर बोली- हे महाकाल! अब यह तेरे हवाले

    0
    458

    इंदौर/उज्जैन.  जिंसी क्षेत्र से 22 वर्षीय बेटे का शव ऑटो में लेकर उज्जैन पहुंची महिला सोमवार रात यम देवता के मंदिर में सोई। सुबह महाकाल थाने के पुलिसकर्मी शव का पोस्टमाॅर्टम कराने के लिए उसे लेने रामघाट पहुंचे, लेकिन वह जाने को तैयार नहीं हुई।

    यही कहती रही कि जालिमों ने मुझसे मेरा बेटा छीन लिया। उनका जीना मुश्किल कर दूंगी। रीता त्रिपाठी ने पहले पति की मौत के बाद दूसरी शादी की। उसका कहना है कि दूसरा पति बेटे अमित को साथ नहीं रखता था। इस कारण वह पास में ही किराए से रहता था। सोमवार सुबह कमरे में मृत मिला था। मंगलवार को पीएम के बाद उज्जैन में ही चक्रतीर्थ पर बेटे का अंतिम संस्कार किया। बेटे को मुखाग्नि देते हुए रीता ने कहा हे महाकाल! मेरा बेटा अब तेरे हवाले कर रही हूं। महाकाल थाना एसआई प्रमोद पाटिल ने बताया बुधवार तक डॉक्टरों से शॉर्ट पीएम रिपोर्ट आने पर मौत की वजह स्पष्ट हो जाएगी।

    गुंडों ने मकान हड़प लिया, बेटे को पीटते थे  : रीता
    रीता ने आरोप लगाया कि इंदौर में गुंडों ने पति की मौत के बाद पवनपुरा का निजी मकान हड़प लिया। मैं पुलिस के पास इसलिए नहीं जा सकी, क्योंकि वे घर आकर बेटे को मार देने की धमकी देते थे। कई बार उसे पीटा भी। पति की मौत के बाद राकेश सिलावट और दिलीप सिलावट से 10 हजार रुपए ब्याज पर लिए थे। इन लोगाें ने मकान पर कब्जा कर अपने नाम कर लिया। मुझे किराए के घर में रहना पड़ा। मेरे बेटे को नशे की लत डालकर जिंदगी बर्बाद कर दी। अब उन सबसे बदला लूंगी, जिन्होंने मुझे बर्बाद कर दिया।

    यह है मामला : जिंसी क्षेत्र में 22 वर्षीय युवक सोमवार सुबह कमरे में मृत मिला। पड़ोसियों से जानकारी मिलने पर मां वहां पहुंची और दरवाजा खुलवाया तब इसका पता चला। महिला बिना किसी को बताए बेटे का शव ऑटो में लेकर उज्जैन के रामघाट पहुंच गई। ऑटो चालक से बोला कि बेटे का अंतिम संस्कार महाकाल की नगरी में करना है। बाद में ऑटो चालक की सूचना पर महाकाला थाना पुलिस वहां पहुंची और शव जब्त किया।

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here